सोहराय पर्व कोरोना के काले बादल को चीरते हुए हर्षोल्लास के साथ संपन्न

एजाज आलम
हजारीबाग। सरहुल मैदान हजारीबाग स्थित धूमकुरिया में कोरोना के काले बादल को चीरते हुए सोहराय पर्व धूमधाम से संपन्न किया गया इस कार्यक्रम का नेतृत्व यंगब्लड आदिवासी समाज एवं ऑल संथाल स्टूडेंट यूनियन के केंद्रीय मांझी हड़ाम मनोज टुडू ने किया। इस कार्यक्रम में अतिथि स्वरूप आदिवासी केंद्र सरना समिति  के अध्यक्ष महेंद्र बैंक, जीत वाहन भगत एवं रुचि कुजुर अनूप लकड़ा एवं गिरिडीह जिला के जिला अध्यक्ष प्रेम राज हेमरोम रामगढ़ जिला के सचिव दीपक टुडू सभी ने स्वामी ग्रुप से दीप प्रज्वलित कर सोहराय कार्यक्रम का शुभारंभ किया। केंद्रीय मांझी हाड़ाम मनोज टुडू ने कहा सोहराय पर्व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान देने के लिए मुख्यमंत्री और राज्यपाल को ज्ञापन देकर तीन दिनों की छुट्टी की अपील की जाएगी क्योंकि सराय मुख्यता आदिवासी संथाल समुदाय 5 दिनों का मनाते हैं इसमें से 3 दिन छुट्टी बनती है अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने के लिए
सोहराय पर्व प्रेम का प्रतीक है इस पर्व में लोग अपनी गिले-शिकवे को भूल कर सभी को निमंत्रण देते हैं और प्रेम पूर्वक अपने रिश्ते को मजबूती से आगे निभाने को प्रण लेते हैं।
ऑल संथाल स्टूडेंट यूनियन के गिरिडीह जिला अध्यक्ष प्रेम राज हेमरोम ने कहा पूर्वजों द्वारा जो भी संस्कृति दिया गया है उसे भूलना नहीं चाहिए कोरोना के कारण से हम लोग वृहत पैमाने पर नहीं मना रहे हैं लेकिन कुछ लोग के द्वारा भी बनाना अत्यंत आवश्यक है अपने पूर्वजों द्वारा दिए गए त्योहारों को अपने पर्व त्यौहार से ही अपना अस्तित्व कायम रहता है इसलिए सभी युवाओं को संबोधित करते हुए अपने परिवार से सर्वदा मनाने का आग्रह किया। रामगढ़ जिला के ऑल संथाल स्टूडेंट यूनियन के सचिव दीपक टुडू ने कहा 21वीं शताब्दी में लोगों को अपनी संस्कृति के साथ-साथ रोजगार एवं शिक्षा जोरदार तरीके से कार्य करना होगा तभी हम वर्तमान समय के साथ दो कदम से कदम मिलाकर चल पाएंगे

इस कार्यक्रम को सफल बनाने में यंगब्लड आदिवासी समाज एवं ऑल संथाल स्टूडेंट यूनियन के केंद्रीय मांझी हड़ाम मनोज टुडू, महासचिव नरेश सोरेन, सचिव सुमित राम किस्कू, केंद्रीय उपाध्यक्ष किशोर हसदा, विजय मुर्मू, सुंदर लाल मरांडी, अविनाश टू डू बजरंगी मुर्मू संतोष मुर्मू नगेंद्र बांस के देवीराम हेमरोम देवीराम टू डू बहराम हंसदा, रोहित लाल मरांडी ,सोहन हसदा, राजकुमार किस्कू ,छोटेलाल किस्कू, चंदन किस्कू, कैलाश किस्कू,सुनील किस्कू,बलेस्वर किस्कू,मनोहर किस्कू,विकास टुडू ,काले सोरेन सुजीत हेमराम , पिंकी टोप्पो अनीशा बाकला बृज मनी हुजूर मोनिका टूटी सरिता खालको सुनीता एक का निशा हरदा मनीषा तिर्की प्यारी कच्छप इत्यादि लोगों ने सहयोग किया।

Related posts

Leave a Comment