बिहार में छठ पूजा के गरीब बर्ती मोदीजी को खोज रहें हैं !

विशेष संवाददाता द्वारा
पटना : बिहार तथा बिहार से सटा राज्यों में लोक आस्था का महापर्व छठ आज यानी बुधवार से शुरू हो गया । चार दिन के इस महापर्व पर भी कोरोना संकमण का असर दिख रहा है। फल, बांस और मिट्टी के चूल्हा से बाजार सज चुके हैं, लेकिन हर चीज के दाम पर महंगाई छायी हुई है। पिछले साल की तुलना में कई चीजों के दाम दोगुने हो गये हैं। ऐसे में छठ व्रती के लिए पूजा सामग्री खरीदना काफी कठिन हो रहा है।इस महंगाई से खास कर गरीब लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पर रहा है !अभी -अभी बिहार के चुनाव में फेकू पी . एम् नरेंद्र मोदी ने कहा था कि मां छठ पूजा करो- हम तुम को मदद करेंगें  और अभी गरीब को देखने बाला कोई नहीं है

PM Modi rally in Bihar: Questions development model of Nitish Kumar; cites  poverty, lack of education | India.com

कोरोना के कारण पिछले सात महीनों से लोगों की आमदनी घट गई है। ऐसे में छठ व्रती पूजा सामग्री खरीदने में कटौती करने लगे है। बोरिंग रोड की पिंकी कुमारी कहती हैं- पहले गेंहू चार किलो खरीदती थी, इस बार तीन किलो गेंहू के आटे से ही ठेकुआ बनेगा। केला, पानी सिंघारा आदि फलों में भी कटौती करूंगी। बजट बिगड़े नहीं, इसलिए ऐसा करना पड़ रहा है।

एक छठ व्रती को सात से दस हजार रुपए का आ रहा खर्च
छठ व्रती सुमन कुमारी कहती हैं- सारी चीजें महंगी हो गई हैं। इस वजह से खर्च भी बढ़ गया है। पिछले साल जहां पांच से छह हजार रुपए का खर्च आया था, वहीं इस बार सात से दस हजार रुपए खर्च हो रहे हैं। इस बार पिछले साल की तुलना में दो से तीन हजार अधिक खर्च करना पड़ रहा है।
इलाके के अनुसार है पूजा सामग्री के दाम
अलग-अलग इलाकों में पूजा सामग्री की कीमत अलग-अलग है। मंडी में सामान सस्ता है लेकिन वहीं खुदरा में हर सामान पर दोगुना दाम लिया जा रहा है। बोरिंग रोड, पाटलिपुत्र, इनकम टैक्स आदि इलाकों की खुदरा दुकान में हर सामान मंडी की तुलना में दोगुनी कीमत पर बेची जा रही है।

पिछले साल की तुलना में दोगुनी हो गई कीमत
फल – पिछले साल की कीमत – इस साल की कीमत
केला – 40 से 50 रुपए दर्जन – 60 से 70 रुपए
नारियल – 25 से 30 रुपए प्रति पीस – 40 से 60 रुपए प्रति पीस
संतरा – 70 से 80 रुपए किलो – 90 से 100 रुपए प्रति किलो
अनार – 120 रुपए किलो – 150 रुपए किलो
नाशपाती – 140 से 150 रुपए किलो – 160 से 180 रुपए किलो
अमरूद – 70 से 80 रुपए किलो – 100 रुपए किलो
गागर नींबू – 20 रुपए पीस – 40 से 50 रुपए पीस
सेब – 70 रुपए किलो – 90 से 100 रुपए किलो
पानी सिंघाड़ा – 50 रुपए किलो – 80 रुपए किलो
सीताफल – 140 रुपए किलो – 160 रुपए किलो
गन्ना – 30 रुपए पीस – 40 से 50 रुपए पीस
कच्चा हल्दी – दस रुपए पीस – 15 रुपए पीस
कच्चा अदरक – 50 रुपए किलो – 75 रुपए किलो

बांस से बने सामान कीमत
सामग्री पिछले साल की कीमत – इस साल की कीमत
दउरा (हल्का) – 60 से 70 रुपए 75 से 100 रुपए
दउरा (भारी) – 150 से 300 रुपए पीस 250 से 400 रुपए
सूप – 30 से 40 रुपए पीस 50 से 70 रुपए
छोटा टोकरी – 30 से 40 रुपए पीस 50 से 60 रुपए
बड़ी टोकरी – 70 से 100 रुपए पीस 100 से 150 रुपए
मिट्टा का चुल्हा – 70 से 100 रुपए पीस 100 से 200 रुपए

नहाय खाय और खरना भी हुआ महंगा
चावल – 45 से 55 रुपए किलो
कद्दू – 100 रुपए में एक पीस (दोपहर तक 50 रुपए किलो था)
चना दाल – 85 से 90 रुपए किलो
चना – 70 रुपए किलो
सेंधा नमक – 80 रुपए किलो
हल्दी – सौ रुपएकिलो
धनिया – 95 से 100 रुपए किलो
जीरा – 450 रुपए किलो

Related posts

Leave a Comment