पटना हाईकोर्ट आज नवनिर्मित शताब्दी भवन का उद्घाटन होगा

विशेष प्रतिनिधि द्वारा
पटना : पटना हाईकोर्ट के लिए ऐतिहासिक दिन भी। क्योंकि, हाईकोर्ट के नवनिर्मित शताब्दी भवन का उद्घाटन होगा। इसके लिए CJI यानी चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया शरद अरविंद बोबड़े पटना पहुंच चुके हैं। वे राजभवन में रुकें। राज्यपाल फागु चौहान से इनकी शिष्टाचार मुलाकात भी हुई है। जब राजभवन से CJI का काफिला निकलेगा तो उस दरम्यान भी कुछ देर के लिए ट्रैफिक को रोका जाएगा। इस कार्यक्रम के कारण बेली रोड पर और डाकबंगला चौराहे के पास काफी प्रेशर रहेगा।
VVIP मूवमेंट्स की वजह से कुछ देर के लिए हाईकोर्ट से जुड़ने वाले सभी रास्तों पर ट्रैफिक को रोक दिया जाएगा। ऐसा दो बार होगा। जब सभी VVIP, राज्यपाल और मुख्यमंत्री की गाड़ी जाएगी और कार्यक्रम समाप्ति के बाद ये वापस लौटेंगे, तब कुछ देर के लिए ट्रैफिक को रोक दिया जाएगा। हाईकोर्ट में कार्यक्रम सुबह 11 बजे है। इसके लिए गेस्ट के आने का सिलसिला सुबह 10:30 से ही शुरू हो जाएगा। जबकि, दोपहर 12:05 में यह कार्यक्रम खत्म हो जाएगा। ऐसे में अगर आप जाम से बचना चाहते हैं तो वैकल्पिक रूट का इस्तेमाल करें, ताकि आपको आने-जाने में आसानी हो। आप समय पर अपने ऑफिस, स्कूल या कॉलेज पहुंच सकें।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी होंगे शामिल
इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, सुप्रीम कोर्ट के तीन जज न्यायमूर्ति इंदिरा बैनर्जी, न्यायमूर्ति नवीन सिन्हा, न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता तथा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल का भी संबोधन होगा। न्यायमूर्ति शिवाजी पांडेय के धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम समाप्त होगा।
शताब्दी भवन में 43 कोर्ट रूम और 57 चैम्बर
आधुनिक सुविधाओं से लैस इस शताब्दी भवन का शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ही 4 फरवरी 2014 को तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रेखा एम दोषित की उपस्थिति में किया था। 203.94 करोड़ की लागत से निर्मित इस शताब्दी भवन में 43 कोर्ट रूम और 57 चैम्बर्स के अलावा दो लाइब्रेरी तथा अन्य सुविधाएं मौजूद हैं। हाईकोर्ट के पुराने भवन के ठीक पूरब इस नए भवन का निर्माण किया गया है।
वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे वकील
मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल के साथ ही अन्य सभी न्यायाधीश इस कार्यक्रम की सफलता के लिए की जा रही तैयारी की देखरेख कर रहे हैं। कोरोना गाइडलाइन के मद्देनजर वकीलों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम से जुड़ने के लिए आमंत्रित किया गया है। सीनियर एडवोकेट को मुख्य न्यायाधीश ने स्वयं पत्र लिखकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम में शामिल होने का अनुरोध किया है। कार्यक्रम की सफलता के लिए पूरा हाईकोर्ट प्रशासन लगा हुआ है। सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की गई है।
बिना पास के इंट्री नहीं
हाईकोर्ट से जारी पास धारक ही कार्यक्रम में शामिल हो सकेंगे। उद्घाटन समारोह में पटना हाईकोर्ट के सभी जजों के साथ ही झारखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डॉ रविरंजन, बार काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन मनन कुमार मिश्रा सहित कई पूर्व न्यायाधीश भी शामिल रहेंगे।

Related posts

Leave a Comment