मोदी, किसान और गरीबों पर वार कर अमीर दोस्तों के लिए हो रहा रास्ता तैयार: राहुल गांधी

दिल्ली व्यूरो
कांग्रेस नेता राहुल गांधी पंजाब सोमवार को भवानीगढ़ और संगरूर में खेती बचाओ यात्रा में शामिल हुए। राहुल गांधी हाल ही में लागू कृषि कानूनों के खिलाफ ट्रैक्टर रैलियां कर रहे हैं। रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर गरीबों और किसानों को तबाह करने के आरोप लगाए। राहुल गांधी ने कहा कि पिछले 6 साल में मोदी सरकार सिर्फ किसान और गरीबों पर ही वार कर रही है।
राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार को गरीबों से कोई लेना देना नहीं है, उनकी हर नीति सिर्फ दो-चार दोस्तों के लिए बनाई जाती हैं। पहले नोटबंदी कर दी, फिर जीएसटी लागू कर दिया। नोटबंदी से पूरा देश सड़कों पर आ गया। उन्होंने नए कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अभी किसान मंडी में जाकर बात कर सकता है लेकिन इन नए कानूनों के बाद किसान के पास वो रास्ता ही नहीं बचेगा।
राहुल गांधी ने कहा कि मंडी सिस्टम में कमियां हैं, लेकिन इसे मजबूत करने की जरूरत है। किसानों के लिए काम करने की जरूरत है, लेकिन मोदीजी वो नहीं कर रहे हैं। वो इस पूरे सिस्टम को खत्म कर रहे हैं। जैसे नोटबंदी से गरीबों को चोट पहुंची, वैसे ही इन कानूनों से किसानों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।
कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार को लगा था कि कोरोना की वजह से किसान विरोध नहीं करेगा, लेकिन किसान इस कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरेगा और कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ रहेगी।
राहुल गांधी ने जीएसटी और नोटबंदी को लेकर एकबार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के जीएसटी से सिर्फ अमीरों का फायदा हुआ, छोटा दुकानदार आजतक नहीं समझ पाया है। उन्होंने कहा कि किसानों का कोई कर्ज माफ हुआ, लेकिन मोदी सरकार ने आम लोगों के पैसों से अडानी-अंबानी का कर्ज माफ कर दिया।
कांग्रेस नेता ने कहा कि कोरोना संकट आया तो हमने कहा कि गरीबों को पैसा दीजिए, लेकिन सरकार ने नहीं सुना। लेकिन अमीर लोगों का कर्ज माफ कर दिया. रोजगार सिर्फ अडानी-अंबानी नहीं पैदा करते हैं, बल्कि छोटे दुकानदार पैदा करते हैं।
कांग्रेस नेता ने कहा कि आने वाले वक्त में देश में युवाओं को रोजगार मिल नहीं पाएंगे, क्योंकि अब वो सिस्टम ही खत्म कर दिया गया है। अब मोदी सरकार खाने के सिस्टम को खत्म कर रही है। राहुल ने कहा कि जब अभी कोरोना का संकट है तो फिर ये कृषि कानून लाने की जरूरत क्या थी। उन्होंने मोदी सरकार से सवाल किया कि आखिर कृषि कानूनों को लाने की इतनी जल्दी क्या थी?
इससे पहले सभा को संबोधित करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘कानून बना है। संसद में बिल पारित हो चुके हैं। लेकिन कौन कहता है कि उन कानूनों में संशोधन नहीं किया जा सकता है। मैं राहुल जी से अनुरोध करता हूं कि जब वे लोकसभा में बहुमत के साथ पीएम बनें तो इन काले कानूनों को खत्म कर दें।’
बता दें कि कृषि कानून के खिलाफ कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन जारी है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी इस वक्त पंजाब में खेती बचाओ यात्रा की अगुवाई कर रहे हैं। वहीं देश के जगहों पर किसान भी नए कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment