*श्रमिक स्पेशल ट्रेन के यात्रियों को भोजन, पेयजल, चिकित्सा सुविधा जैसी*

indian railway
*सभी आवश्यकताओं की पूर्ति कर रहा है पूर्व मध्य रेल*
 *प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुचाने के लिए रेल* *प्रशासन कटिबद्ध*
हाजीपुर: देश के विभिन्न स्थानों पर फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, छात्रों, पर्यटकों आदि के लिए रेलवे द्वारा दिनांक 01 मई से लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है जिसमें आगे वृद्धि भी की जाएगी ।
भारतीय रेलवे द्वारा चलाए गए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में से *दिनांक 25.05.2020 तक पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों पर कुल 1094 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें पहुंची जिससे लगभग 15 लाख प्रवासी मजदूरों को अपने गंतव्य तक पहुंचाया जा सका । जितनी भी श्रमिक स्पेशल यहां पहुंच रहीं हैं उन सभी से यात्रा करने वाले प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन, पानी, चिकित्सा सहित अन्य सभी जरूरतें पूरी की जा सकें, इसके लिए पूर्व मध्य रेल प्रशासन दिन-रात लगा हुआ है । पूर्व मध्य रेल के इन प्रयासों के कारण प्रवासी श्रमिकों को किसी प्रकार की कठिनाइ नहीं हो रही हैं बल्कि रेलवे द्वारा किए गए सेवाभाव से वे अत्यंत संतुष्ट हैं ।*
विदित हो कि भारतीय रेल द्वारा दिनांक 25 मई, 2020 तक देश भर में 3274 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई गईं जिससे 44 लाख से अधिक लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचा जा सका ।
 *श्रमिकों को भोजन एवं पानी की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके इसके लिए पूर्व मध्य रेल के रेलकर्मी एवं अधिकारी एक टीम की तरह कार्य रहे हैं । इसके लिए फुड प्वायंट बनाए गए हैं जहां श्रमिक एक्सप्रेस के रूकने के बाद उसके यात्रियों के लिए भोजन, पानी आदि का विशेष ध्यान रखा जा रहा है ।* पटना, दानापुर, पाटलिपुत्रा, पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन, गया, चोपन, धनबाद, कोडरमा, बरकाकाना, रेणुकूट, सिंगरौली, डाल्टेनगंज, सिंगरौली, गढ़वा रोड, सोनपुर, हाजीपुर, मुजफ्फरपुर, बरौनी, समस्तीपुर, दरभंगा, बापूधाम मोतिहारी, बेतिया सहित श्रमिक स्पेशल पहुंचने वाली सभी स्टेशनों पर खान-पान, पेयजल, चिकित्सा एवं अन्य सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं ।
पूर्व मध्य रेल द्वारा *श्रमिक स्पेशल अपने नियत समय पर पहुंचे इसके लिए पर्याप्त कदत उठाए गए हें और लगभग सभी ट्रेनें नियत समय पर अपने गंतव्य तक पहुंच रही हैं ।* परंतु *रेलमार्ग में अत्यधिक व्यस्तता के कारण संरक्षा आदि को देखते हुए प्रवासी श्रमिकों के हित में कुछ ट्रेनों को आंशिक रूप से परिवर्तित किया गया । मार्ग परिवर्तन के कारण दूरी बढ़ गयी जिसके फलस्वरूप समय थोड़ा ज्यादा लग रहा है ।*
 *पूर्व मध्य रेल प्रशासन पुनः स्पष्ट करता है कि कोई भी प्रवासी श्रमिक तथा अन्य किसी प्रकार की भ्रांति मे नहीं  आएं । सारी सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए रेल प्रशासन उन्हें गंतव्य तक पहुंचाने के लिए कटिबद्ध है ।*

Related posts

Leave a Comment