क्या बिहार में भाजपा सुशांत मामले से लाभ लेना चाहता है! !

राजनीतिक संवाददाता द्वारा

Sushant Singh Rajput Suicide Case SIT can arrest Riya Chakraborty ...

इस समय सुशांत मामले में सभी राजनीतिक दल अपना -अपना लाभ लेना चाहते है! सुशांत के केस में न्याय मिलना चाहिए ! अभी लगता है बिहार में सुशांत के कारण कोरोना संकट और बाढ़ से जनता को राहत मिल गया है , जिसकी कारण भाजपा और एनडीए के नेता बड़ी मुखर हो कर सुबह से शाम तक शुशांत की बात कर रहें हैं जनता की समस्याओं को भटकाने के लिए सुशांत मामले को आगे ला रहें है और यह पिछले 6 वर्षों से मोदी सरकार तथा भाजपा के नेता जनता के मुद्दे को भटकाने के लिए भावनात्मक बातों को लाकर अपनी राजनीतिक सेकते रहे हैं जबकि पिछले 4 महीनों से नीतीश कुमार कोप भवन में बंद थे और और लेकिन अभी बिहार विधान सभा चुनाव के कारण उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी , मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और रामविलास पासवान अपनी नाकामी को छिपाने के लिए सुशांत मामले को भावनात्मक मुद्दा बनाना चाहते हैं! इस समय बिहार में कोरोना और बाढ़ विकराल रूप लिए हुए हैं चारो तरफ जनता त्राहिमाम- त्राहिमाम है, परंतु नीतीश कुमार अपनी नाकामी को छिपाने के लिए इधर-उधर की बात कर रहे हैं और अभी बिहार की जनता सारी बात जान रही है!

NBT

इस समय  के संबंध में जानकारी मिली है कि बिहार के 14 जिलों की 39,63,728 आबादी बाढ़ से प्रभावित है और इसमें से 3,16,661 लोगों को अबतक सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया गया है । आपदा प्रबंधन विभाग से बृहस्पतिवार को प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश के 14 जिलों – सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगडिया, सारण, समस्तीपुर, सिवान एवं मधुबनी – के 108 प्रखंडों के 972 पंचायतों की 3963728 आबादी बाढ से प्रभावित है। यहां से निकाले गए 31,6661 लोगों में से 25,116 व्यक्ति 19 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। दरंभगा जिले की इस तस्वीर से बाढ़ के कहर का अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है। दरभंगा जिले में सबसे अधिक 14 प्रखंडों के 173 पंचायतों की 13,51,200 लोगों की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है।NBT

जल संसाधन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बागमती नदी सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर और दरभंगा में… बूढी गंडक नदी मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर और खगड़िया में, कमला बलान नदी मधुबनी में, गंगा नदी भागलपुर में, अधवारा नदी सीतामढ़ी में, खिरोई दरभंगा में और महानंदा नदी पूर्णिया में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। मुजफ्फरपुर की इन तस्वीरों में लोग बाढ़ के पानी से बचकर सुरक्षित स्थान की तरफ जा रहे हैं।

flood in Bihar : Latest news and update on flood in Bihar

बिहार के 14 जिलों में बाढ़ की वजह अधवारा समूह नदी, लखनदेई, रातो, मरहा, मनुसमारा, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कदाने, नून, वाया, सिकरहना, लालबेकिया, तिलावे, धनौती, मसान, कोशी, गंगा, कमला बलान, करेह एवं धौंस नदी के जलस्तर का बढ़ना है। जल संसाधन विभाग के मुताबिक पूर्वी चंपारण जिले के चकिया प्रखंड में बैरिया-करोल गांव के नजदीक बूढी गंडक के दायां तटबंध किमी. 16 से कि.मी. 18 के पीछे निर्मित रिटार्यड बांध को कि.मी. 0.9 पर अज्ञात ग्रामीणों ने क्षतिग्रस्त कर दिया है ।

Flood situation in North Bihar region may deteriorate further as the meteorological department has forecast moderate to heavy rains in Nepal and the catchment areas of different rivers.

राज्य के दो नए बाढ़ प्रभावित जिलों में मधुबनी भी शामिल है। मधुबनी में सीतामढ़ी और दरभंगा से सटे बसैठ के अलावा कई और इलाकोंं में बाढ़ का पानी फैल रहा है। आप इन तस्वीरों में देख सकते हैं कि कैसे एक परिवार बाढ़ के पानी में घिर गया है।

Related posts

Leave a Comment