जमशेदपुर में सरकारी जमीन पर कब्जे की कोशिश

विशेष संवाददाता द्वारा
जमशेदपुर:खासमहल की सरकारी जमीन पर दो दर्जन महिलाओं ने बुधवार सुबह एक बार फिर से कब्जा का प्रयास किया। बच्चों को गोद में लेकर महिलाओं ने टीओपी के पास खाली जमीन पर तंबू गाड़ दिया था। तत्काल पंचायत प्रतिनिधियों ने जमशेदपुर अंचल निरीक्षक(सीआई) बलवंत सिंह को इसकी जानकारी दी। वे सरकारी जमीन का जायजा लेने पहुंचे तो देखा कि महिलाओं की भीड़ लगी है। फिर आधा दर्जन पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिसकर्मियों ने प्लास्टिक से बने तंबू को उखाड़ कर फेंक दिया।
इसके बाद महिलाओं की भीड़ को खासमहाल हाता मुख्य सड़क तक खदेड़ दिया। चटाई, बर्तन और भोजन लेकर महिलाएं पुलिस का विरोध कर रही थी। ये सारी महिलाएं बिरसानगर, सुंदरनगर और जामागोड़ा की हैं। इनका कहना है कि अगर रहने के लिए उनका घर होता तो वे खाली जमीन पर कब्जा क्यों करतीं।
अंचल निरीक्षक ने महिलाओं से कहा कि आपलोग आवेदन करे, प्रशासन सुविधा के अनुसार सभी के लिए जमीन की व्यवस्था करेगी। सरकारी जमीन पर कब्जा करना अपराध है। ऐसा करने पर आपलोगों के खिलाफ केस होगा। गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। पुलिसिया कार्रवाई से आक्रोशित महिलाएं घंटों मुख्य सड़क पर बैठी रहीं। कहा कि वे कहां जाएं, अपना घर नहीं है।
चौथी बार हटा कब्जा: प्रशासन ने खासमहल की जमीन से चौथी बार कब्जा हटाया है। इससे पहले 9 मार्च, 24 मार्च और 4 अप्रैल को खासमहल की जमीन पर अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जा चुका है। ग्रामीणों को जमीन कब्जा के प्रति उकसाने के संदेह में पुलिस ने तीन पंचायत प्रतिनिधियों को जेल भी भेजा है। जबकि लोगों का कहना है कि वे लोग ग्रामसभा कर ग्रामीणों से जमीन खाली कराने में प्रशासन की मदद की थी।

Related posts

Leave a Comment