कुख्‍यात अपराधी विकास दुबे का   गिरफ्तारी या आत्मसमर्पण

अरुण कुमार चौधरी

आज कुख्‍यात अपराधी  विकास दुबे  गिरफ्तार हुआ है ! लोगों का  यह कहना है कि यह एक सुनियोजित आत्मसमर्पण है , जबकि   मध्य प्रदेश की मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अपना  पीठ थपथपा रहे हैं !   ऐसे तो  इस समय बीजेपी में पूरा झूठ का प्रचलन चल गया है, बीजेपी के नेता   हर समय प्रधानमंत्री मोदी से लेकर राज्य के बीजेपी शासित के मुख्यमंत्री केवल दिन भर  हेड लाइन मैनेजमेंट में लगे रहते हैं, जबकि  इंदौर के महाकाल मंदिर में     पूजा करने के बाद श्री विकास दुबे    चिल्लाकर कह रहे हैं कि, मैं विकास दुबे कानपुर वाला हूं और कुछ लोगों का कहना है कि मध्य प्रदेश के गृह मंत्री श्री पुरुषोत्तम मिश्रा का विकास दुबे से पुराना रिश्ता है! इस आत्मसमर्पण में श्री पुरुषोत्तम मिश्रा ने मदद किए हैं उत्तर प्रदेश पुलिस इतिहास के सबसे चर्चित कानपुर एनकाउंटर केस के मुख्य आरोपी विकास दुबे को वारदात के सात दिन बाद गुरुवार सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर से पकड़ लिया गया है। सीएम-एमपी पुलिस पर साधा निशाना उत्तर प्रदेश के गांव बिकरू में डीएसपी समेत आठ पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या करने के बाद से फरार चल रहे मोस्ट वांटेड विकास दुबे के पकड़े जाने के साथी ही उसकी गिरफ्तारी पर सियायत भी शुरू हो गई है।पूर्व दिग्विजय सिंह ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को भाजपा नेता द्वारा प्रायोजित सरेंडर बताया है।सिंह ने आगे कहा कि इस कुख्यात गैंगस्टर के किस-किस नेता व पुलिसकर्मियों से सम्पर्क हैं।

इसी कार से आया था विकास दुबे? 2 दिन पहले शिवपुरी में दिखी थी गाड़ी

जांच होनी चाहिए। विकास दुबे को न्यायिक हिरासत में रखते हुए इसकी पुख़्ता सुरक्षा का ध्यान रखना चाहिए ताकि सारे राज़ सामने आ सकें। ऐसे  विपक्षी दल के सारे नेता बयान देकर सी .बी. आई से  जांच करने की मांग कर रहे हैं इस संबंध में यह भी जानकारी है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी विकास दुबे की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं।।

Priyanka Gandhi Vadra Asked To Exit Government Bungalow, Pays Dues ...

सवाल नंबर-1 अलर्ट के बावजूद आरोपी उज्जैन कैसे पहुंचा?
सवाल नंबर-2 सरकार साफ करे आत्मसमर्पण है या गिरफ्तारी?
सवाल नंबर-3 गिरफ्तारी के लिए मीडिया को क्यों ले जाया गया?
सवाल नंबर-4 विकास दुबे ने खुद ही बताई अपनी पहचान?
सवाल नंबर-5 सुरक्षा एजेंसियों को क्यों नहीं लगी भनक?
सवाल नंबर-6 गिरफ्तारी के वक्त विकास दुबे की बॉडी लैंग्वेज पर सवाल
सवाल नंबर-7 गिरफ्तारी से पहले मंदिर में फोटो क्लिक कराई
सवाल नंबर-8 मंदिर में गिरफ्तारी क्यों? एनकाउंटर से डर गया था विकास दुबे?
सवाल नंबर-9 फरीदाबाद और उज्जैन तक भागने में किसने की मदद?
सवाल नंबर-10 शूटआउट के बाद से कहां रह रहा था विकास
इस कांड से सभी जगह में भाजपा का थू — थू हो रहा है

                                    निवेदन
ऐसे तो हजारों पाठकों का भरपूर सहयोग मिल रहा है, जिसके कारण हम अपनी सच्ची पत्रकारिता को आगे बढ़ा रहे हैं !इसी क्रम में प्रबुद्ध पाठकों से आग्रह है कि हम    आलेख    को प्रस्तुत करता हूं,! इसमें कुछ त्रुटियां हो सकती है, जिसे आप हमें समय-समय पर अवगत करा सकते हैं और आपका सुझाव मेरे लिए बहुत ही मूल्यवान होगा!
इस संबंध में कहना है कि अगर मेरी प्रस्तुति अच्छा लगे, तो आप अपने मित्रों, परिवारजनों तथा बुद्धिजीवियों को अधिक से अधिक इस प्रस्तुति को अग्रसारित करते रहें और हमें हौसला बढ़ाते रहें ।
                                                                                                                                                                                                                      आपका
                                                                                                                                                                                                              अरुण कुमार चौधरी

 

 

 

 

Related posts

Leave a Comment