गुजरात के पैतृक गांव में सुपुर्दे-खाक हुए अहमद पटेल

राजनीतिक संवाददाता द्वारा

भरुच:   कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल के पार्थिव शरीर को कोविड-19 दिशानिर्देशों के साथ गुजरात के भरूच जिले में उनके पैतृक गांव में सुपुर्दे-खाक कर दिया गया। उनकी अंत्येष्टि में राहुल गांधी समेत पार्टी के कई वरिष्ठ राष्ट्रीय नेता मौजूद रहे।
अहम पटेल का अंतिम संस्कार भरुच के पैतृक गांव पिरमान में सुन्नी वोहरा मुस्लिम जमात के कब्रिस्तान में किया गया। उनकी इच्छा के अनुसार, उन्हें उनके माता-पिता की कब्रों के पास दफनाया गया। मृतक के लिए की जाने वाली अंतिम नमाज के बाद अहमद पटेल के शव को उनके परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों और दोस्तों ने दफनाया, जिनमें से अधिकांश लोग पीपीई किट पहने हुए थे।

गुजरात के पैतृक गांव में सुपुर्दे-खाक हुए अहमद पटेल, राहुल गांधी समेत कई बड़े नेता अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे

राहुल गांधी पूरे समय पटेल के बेटे फैसल और बेटी मुमताज को सांत्वना देते नजर आए। उनके अलावा पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गुजरात प्रभारी राजीव सातव, वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री, राज्यसभा सांसद शक्ति सिंह गोहिल भी पटेल की अंत्येष्टि में शामिल होने पहुंचे थे।
गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति (जीपीसीसी) के अध्यक्ष अमित चावड़ा, गुजरात राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी, सिद्धार्थ पटेल, अर्जुन मोडवाडिया, जीपीसीसी के वर्किंग प्रेसिडेंट हार्दिक पटेल समेत पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता भी अंतिम संस्कार में मौजूद थे। गुजरात के पूर्व सीएम शंकरसिंह वाघेला और राज्य विधानसभा में निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी भी नेता को विदाई देने के लिए कब्रिस्तान पहुंचे थे।

Related posts

Leave a Comment