मजदूरों के साथ कर्नाटक राज्य सरकार द्वारा अमानवीय व्यवहार

पिछले 2 दिनों से कर्नाटक   सरकार द्वारा मजदूरों को बंधक बनाने के संबंध में पूरे देश में कर्नाटक सरकार कि  थू – थू हुई, तो  तो वे अपना  आदेश वापस कर लिए ! इसी से संबंधित प्रेस वार्ता में श्री सुप्रियो भट्टाचार्जी जेएमएम के प्रवक्ता ने कहा कि कर्नाटक में फसे झारखंड राज्य के हजारों मजदूरों के साथ कर्नाटक राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे वीभत्स अमानवीय व्यवहार का हम कड़े शब्दों में निंदा करते हुए वहां की भाजपा सरकार के नापाक इरादों पर भाजपा के नए-नवेले नेता श्री बाबूलाल…

Read More

दीपक प्रसाद की स्थिति में तेजी से सुधार

आज झारखंड भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रसाद को सीभीयर हार्ट अटैक हुआ था और उसके बाद उनके परिवार जनों ने रिम्स में भर्ती कराया इधर रिम्स के डॉक्टरों का कहना है कि उनकी हालत और स्थिर बनी हुई है, वे रिम्स के आईसीयू वार्ड में भर्ती है !उनकी देखरेख ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कर रहे हैं और उनका एंजियोप्लास्टी की गई है और अब उनकी स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है उधर दीपक प्रकाश को देखने के लिए मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन तथा स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता…

Read More

खगडिया से2000 मजदूरों को तेलंगना भेजा गया

इस समय कोरोना संकट में बिहार के प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा सर्वविदित है, इसके विपरीत अब बिहार से भी श्रमिक ट्रेन में मजदूरों को अन्य राज्यों में भेजा जा रहा है! इस संबंध में एक जानकारी मिली है कि पिछले  दो बजे रात खगडिया से करीबन 2000 मजदूरों को तेलंगना जिला प्रशासन ने वापस भेज दिया है! इस खबर की पुष्टि एक वेबसाइट सत्य डॉट कॉम तथा राजद के प्रवक्ता एवं सांसद श्री मनोज झा ने किया है! इस संबंध में जानकारी मिली हैकि पिछले दिन तेलंगना के घटकेसर से…

Read More

कर्नाटक  में प्रवासी मजदूर बंधक में!

अरुण कुमार चौधरी पिछले 43 दिनों से मजदूर खाने के लिए दर-दर भटक रहे हैं ,उस समय कोई भी राज्य सरकार मुस्तैदी से प्रवासी मजदूरों को खाने- पीने की व्यवस्था पूरी तरह से नहीं किया, जिसके कारण प्रवासी मजदूर किसी तरह पानी पीकर 2 दिन में एक शाम भोजन कर अपना जिंदगी बसर कर रहे थे! मजदूरों के बीच भारी ओखलाहट और व्याकुलता है जोकि    धुर्व सत्य है, सभी के सभी मजदूर अपने घर जाना चाहते हैं, क्योंकि इन्होंने 42 दिनों में बहुत ही यातनाएं सही है, अब इनका…

Read More